फ़ैयाज़ अहमद
विश्व में कोविड-19 महामारी को लेकर चिंता का विषय बना हुआ है सभी देश कहीं ना कहीं इस भयावह बीमारी से संक्रमित है और इस महामारी से उबरने के लिए सतत प्रयासरत है यदि यही क्रम रहा संक्रमण का फैलने का तो वह दिन दूर नहीं होगा जब पृथ्वी पर जाति के अस्तित्व को बचा पाना वैज्ञानिकों के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण भरा अनुसंधान को सबका अध्याय है बन चुका होगा और निस्संदेह इसका दूरगामी परिणाम देखने को मिल सकता है । आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में कार्य करने के लिए कोरोना वारियर्स के रूप में एनडीआरएफ टीम के जवान पूरी मुस्तैदी से गोरखपुर में जुटे हुए हैं। जिला में कोविड-19 के संक्रमण की कड़ी को तोड़ने के उद्देश्य से इंडिया रेप के कार्मिक लगातार अन्य राज्यों से हजारों की तादाद में स्पेशल ट्रेनों से प्रवासी मजदूर गोरखपुर रेलवे स्टेशन में पहुंच रहे हैं। प्रवासी मजदूरों को क कुरौना कोविड-19 के बचाओ की दिशा में हर संभव मदद के लिए जिला प्रशासन के साथ एनडीआरएफ 28 दिनों से लगातार जुटी हुई है। एनडीआरएफ की टीम गोरखपुर ने लगातार शहर के प्रमुख स्थानों का सैनिटाइजेशन ,फूड डिसटीब्यूशन, व साथ ही साथ जागरूकता अभियान व्यापक स्तर पर चलाया जा रहा है ।
एनडीआरएफ के जवानों के इस जज्बे को देखते हुए गोरखपुर के जिला प्रशासन व स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने पहले भी काफी सराहा है आज इसी कड़ी में बांसगांव लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री कमलेश पासवान के द्वारा एनडीआरएफ के जवानों को करोना वैरीयस के रूप में प्रशस्ति व अंग वस्त्र देकर जवानों के मनोबल को बढ़ावा दिया।
इस अवसर पर उन्होंने कहा कि एनडीआरएफ की टीम ही किसी भी आपदा के दौरान देबदूत से कम नहीं है चाहे आपदा मानव निर्मित हो या प्राकृतिक हो एनडीआरएफ हमारी सहायता करने के लिए हर समय तत्पर रहती है।
इस अवसर पर एनडीआरएफ से टीम कमांडर निरीक्षक गोपी गुप्ता, उप निरीक्षक थोराट सुहास पोपट, आरक्षी सत्येंद्र यादव, विमलेश पासवान विधायक बांसगांव, आशुतोष कुमार मल निदेशक सिटी हॉस्पिटल, ब्लाक प्रमुख चरगांव श्री सुनील पासवान, पूर्व जिला पंचायत सदस्य श्री रामवृक्ष यादव, एनडीआरएफ की अन्य बचाव कर्मी उपस्थित रहे।