कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते देशभर में चौथे चरण का लॉकडाउन जारी है. ऐसे में केंद्र सरकार ने ट्रेनें चालू करने के बाद अब घरेलू उड़ानें 25 मई से शुरू करने का फैसला लिया है. सभी ऐहतियातन बरतते हुए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) ने गुरुवार को यात्रियों के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं. इसके अंतर्गत यात्रियों के लिए हवाईअड्डा टर्मिलन इमारत में प्रवेश करने से पहले थर्मल जांच क्षेत्र से गुजरना अनिवार्य होगा. साथ ही यात्रियों को अपने मोबाइल में आरोग्य ऐप रखना अनिवार्य कर दिया है. एयरपोर्ट जाने से पहले कुछ ऐसे बातें हैं, जिन्हें जानना बेहद जरूरी है.
एयरपोर्ट अथॉरिटी (AAI) द्वारा जारी SOPs-

यात्रियों को फ्लाइट के प्रस्थान समय से दो घंटे पहले पहुंचना होगा.
यदि उनकी उड़ानें चार घंटे के भीतर हैं तो यात्रियों को टर्मिनल बिल्डिंग में जाने की अनुमति दी जाएगी.
सभी यात्रियों को मास्क और ग्लव्स पहनना अनिवार्य होगा.
यात्रिओं को थर्मल स्क्रिनिंग से गुजरना होगा.
यात्रियों के मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप होना जरूरी है.
आरोग्य सेतु ऐप को लेकर 14 साल से कम उम्र के बच्चों को छूट है.
अगर उनमें ‘ग्रीन’ ऑप्शन नहीं दिखता है तो या उनके पास सरकारी कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग ऐप नहीं है तो उन्हें सफर करने की मंजूरी नहीं दी जाएगी.
विशेष मामलों के अलावा यात्रियों के ट्रोली की मंजूरी नहीं होगी. इसके लिए भी उन्हें डिसइन्फेक्ट करना होगा.
राज्य सरकारों और प्रशासन को सुनिश्चित करना है कि यात्रियों और एयरलाइन चालक दल के लिए सार्वजनिक परिवहन और निजी टैक्सियां उपलब्ध हों.
केवल निजी वाहनों या चुनिंदा कैब सेवाओं को यात्रियों और कर्मचारियों को हवाई अड्डे ले जाने की अनुमति होगी।

बता दें कि नागरिक उड्डयन मंत्री ने कहा कि कम उड़ानें हो सकती हैं, बीच की सीटों को खाली रखना ‘व्यवहारिक नहीं होगा’, क्योंकि इससे टिकटों की कीमत बढ़ जाएगी. बता दें कि कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने से रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के बीच देश में 25 मार्च से सभी व्यावसायिक यात्री उड़ानें निलंबित हैं।स्पाइसजेट के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक अजय सिंह ने यात्री सेवाएं बहाल करने के फैसले का स्वागत किया, उन्होंने कहा, ‘हम 25 मई से घरेलू उड़ान सेवाओं का परिचालन फिर शुरू करने के सरकार के फैसले का स्वागत करते हैं. यह फैसला देश में समग्र आर्थिक माहौल को मजबूत करने में दूरगामी साबित होगा. परिचालन की बहाली के लिए एसओपी और उड़ानों के ब्योरे का अब भी इंतजार है, वहीं हमें विश्वास है कि यह बहुप्रतीक्षित कदम बड़ी संख्या में यात्रियों को सबसे सुरक्षित और त्वरित परिवहन प्रदान करेगा।