अपील : जुलूस में खर्च होने वाली रकम से अंजुमने करा दें किसी गरीब बेटी की शादी

आला हज़रत हुज़ूर ताजुशशरिया वेलफेयर सोसाइटी व दरगाह ताजशुशरिया/आला हज़रत की पहल

बरेली। काज़ी-ए-हिंदुस्तान मुफ़्ती असजद रज़ा क़ादरी (असजद मियां) की सरपरस्ती में चलने वाला संगठन आला हज़रत हुज़ूर ताजुशशरिया वेलफेयर सोसाइटी ईद मिलादुन्नबी की खुशी में 100 गरीब लड़कियां जिनके परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नही है उनको मुफ्त कम्प्यूटर कोचिंग कराएगी। संगठन के संस्थापक व काज़ी-ए-हिंदुस्तान के दामाद फरमान हसन खान (फरमान मियां) ने बताया कि पैगंम्बरे इस्लाम की यौमे पैदाईश का जश्न दुनिया भर में 30 अक्टूबर को मनाया जाएगा। इस मुबारक मौके पर सोसाइटी ने फैसला किया है कि ऐसी 100 ग़रीब लड़कियां जिनके परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नही है और पढ़ना चाहती उनको ज़ेन कम्प्यूटर सेन्टर (अम्बा प्लाज़ा, आसाम टी कंपनी के सामने, शाहदाना रोड, शहामतगंज, बरेली) पर मुफ्त कोचिंग करायी जायेगी । जिसमे बेसिक कंप्यूटर कोर्स, डिजाइनिंग कोर्स, इंटरनेट कोर्स, ऑनलाइन वर्क ट्रेनिग, एकाउंट्स कोर्स आदि कराये जाएँगे। बेटियों को बेसिक कोर्स शुरू कराया जाएगा, कोर्स पूरा होने के बाद टेस्ट होगा उसके बाद न्यू कोर्स में एडमिशन दिया जाएगा ।

उन्होंने आगे कहा कि इस बार कोविड 19 की गाइड लाइन्स के अनुसार परम्परागत तरीके से जुलूस नही निकलेंगे। जो अंजुमनें जुलूस में रकम खर्च करती है वो अंजुमनें उस पैसे से किसी गरीब लड़की की शादी कर दें या फिर किसी बीमार या ज़रूरतमंद का इलाज करा दें।

सोसाइटी के प्रवक्ता कलीमुद्दीन ने कहा कि जो लड़कियां कोचिंग करने की इच्छुक है वो 1 नवम्बर से 5 नवम्बर तक ज़ेन कंप्यूटर सेंटर पर पहुंचकर सुबह 10:00 बजे से शाम को 8:00 बजे तक अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं, ताकि 10 नवम्बर से उनके क्लास शुरू कर दिया जाए।